शुक्रवार, 7 अगस्त 2009

आ उस छाँव तले चल ........

आ उस छाँव तले चल बैठै
कुछ बातें ,कर ले हम दोनों
कुछ उस पल की,कुछ इस पल की
यादो की झुरमुट में,छुप कर
गुजरे लम्हों को फिर जी ले
कुछ शिकवे तेरे भी होगे
कुछ शिकवे मेरे भी होगे
आ अब भूल इन्हे हम फिर से
फागुन वाली लय में झुमे
जीवन तो बस जलती बाती
जाने कब बुझ जाए साथी
जो पल आज मिले है हमको
उनको तो जी भर कर जी लें
आ उस छाँव तले चल बैठे
नंदित्ता सिंह

21 टिप्‍पणियां:

  1. जो पल आज मिले है हमको
    उनको तो जी भर कर जी लें

    सुन्दर पंक्तियाँ नन्दिता जी। किसी ने कहा है कि-

    जो बीता कल कया होगा कल
    है इस कारण तू व्यर्थ विकल
    आज अगर तू सफल बना ले
    आज सफल तो जनम सफल

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    www.manoramsuman.blogspot.com
    shyamalsuman@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  2. चिट्ठाजगत में आपका स्वागत है.......भविष्य के लिये ढेर सारी शुभकामनायें.

    गुलमोहर का फूल

    उत्तर देंहटाएं
  3. जो पल आज मिले है उनको जी ले
    बहुत खूब सुन्दर भाव

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत प्यारी रचना. जारी रहें.

    उत्तर देंहटाएं
  5. साधारण सी भावाव्यक्ति...
    गहराई की संभावना लिए हुए...

    शुभकामनाएं....

    उत्तर देंहटाएं
  6. नंदिता ,ब्लॉग जगत में स्वागत ............. ,इश्वर से प्रार्थना हैं आपकी कलम हमेशा आपके साथ रहे ..........

    उत्तर देंहटाएं
  7. bahut khoob! apki rachana na sirf sarahani hai balki prasansani bhi hai!
    ham to aap ke kayal hi ho gaye hain!

    उत्तर देंहटाएं
  8. amazing poem , great work of words.. itni gahri bhaavabhivyakti .. badhai ho ji


    aabhar

    vijay

    pls read my new poem "झील" on my poem blog " http://poemsofvijay.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  9. आ उस छाँव तले चल बैठै
    कुछ बातें ,कर ले हम दोनों
    कुछ उस पल की,कुछ इस पल की
    यादो की झुरमुट में,छुप कर
    गुजरे लम्हों को फिर जी ले

    METHAA SA EHSAAS LIYE..... MAN MEIN UTARTI.....KHOOBSOORAT RACHNA HAI....GUZRE LAMHON KO YAADON KI JHURMUT MEIN.....LAJAWAAB

    उत्तर देंहटाएं
  10. गुजरे लम्हों को फिर जी ले
    कुछ शिकवे तेरे भी होगे
    कुछ शिकवे मेरे भी होगे
    आ अब भूल इन्हे हम फिर से

    behtareen rachna hai...

    उत्तर देंहटाएं
  11. dil se kuch baat ho jaye to baat ban jati hai buuus yahi to huva hai yaha ...waaah !

    --- eksacchai

    {AAWAZ } http://eksacchai.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  12. आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत सुंदर…..आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  14. कुछ शिकवे तेरे भी होगे
    कुछ शिकवे मेरे भी होगे

    bahut hi realistic lines hain.......

    उत्तर देंहटाएं